international

पाकिस्तान ने पुलवामा हमले की 13500 पन्नो की चार्जशीट को खारिज किया- Defence India News

 

पाकिस्तान ने पुलवामा हमले की 13500 पन्नो की चार्जशीट को खारिज किया

पाकिस्तान ने पुलवामा हमले की 13500 पन्नो की चार्जशीट को खारिज किया
पाकिस्तान ने पुलवामा हमले की जांच में दायर चार्जशीट को खारिज कर दिया है, जिसमें दावा किया गया है कि हमले के
लिए इस्लामाबाद को फंसाने के लिए यह एक शरारती प्रयास है। पाकिस्तान ने दावा किया है की भारत ने पुलवामा हमले
की 13500 पन्नो की चार्जशीट के लिए विश्वसनीय समर्थन प्रदान करने में विफल रहा है।


पाकिस्तान ने पुलवामा हमले की चार्जशीट में भारत के समर्थन विफल होने का मतलब बताया है घरेलू हित को पूरा करने
का प्रयास जो की संकीर्ण और घरेलू राजनीतिक हितों की सेवा करने से प्रेरित है। पाकिस्तान की तरफ से शुरुआत में
भारत के आधारहीन आरोपों को खारिज कर दिया था और किसी भी कार्रवाई योग्य जानकारी के आधार पर सहयोग बढ़ाने
की तत्परता व्यक्त की थीऔर उसके बाद पाकिस्तान की तरफ से आयी है इस प्रकार की तीखी प्रतिक्रिया।


“पाकिस्तान के विदेश कार्यालय द्वारा बुधवार को जारी एक बयान में कहा गया है कि यह भारत की राष्ट्रीय जांच एजेंसी
(NIA) द्वारा कथित रूप से तथाकथित चार्जशीट ’को खारिज कर रहा है, क्युकी यह अवैध रूप से भारत का पाकिस्तान
को जम्मू में हुए पुलवामा हमले में फंसाने का गलत प्रयास है।“


कथित सब्दो में पाकिस्तान के विदेश कार्यालय द्वारा बयान में कहा गया है की, भारत अपने अभेद्य के लिए कोई
विश्वसनीय सबूत देने में विफल रहा और इसके बजाय पाकिस्तान के खिलाफ अपने दुर्भावनापूर्ण प्रचार अभियान के लिए
हमले का उपयोग कर रहा है।


पाकिस्तान ने भारत को गलत साबित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है, अपने आपको सही साबित करते हुए पाकिस्तान
ने बेबाक तरीके से कहा की किस तरह से भारतीय सैन्य विमान पाकिस्तान के खिलाफ 26 फरवरी, 2019 को जुझारू
कार्रवाई करने के लिए पाकिस्तान सीमा में घुस आये थे। भारतीय दुस्साहस को प्रभावी रूप से पाकिस्तान वायु सेना द्वारा
काउंटर किया गया था जिसके परिणामस्वरूप दो भारतीय युद्धक विमान नीचे गिर गए थे और कब्जा में लिए गए थे।
भारत के उकसावे के बावजूद, भारतीय पायलट को पाकिस्तान ने शांति के इशारे के रूप में रिहा किया, सभी कुछ भारत
की ओर से किया गया था पाकिस्तान के खिलाफ।


पाकिस्तान ने पुलवामा हमले की 13500 पन्नो की चार्जशीट को खारिज करने से यह निष्कर्ष निकलता है कि पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय
समुदाय को भारत के झूठे इस्तेमाल और संभावित गलतफहमियों के बारे में बता रहा है। पाकिस्तान अंतराष्ट्रीय
स्तर पर खुद को सही और निर्दोष साबित करने के साथ ही भारत को गलत साबित करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा है |

READ MORE :

भारत खरीदने जा रहा है इजरायल से  दो AWACS

भारत चीनी सैनिकों के बीच एक बार फिर झड़प